Home राज्य अमरोहा न्यायाधीश उमेश कुमार की अदालत ने शादी का झांसा...

न्यायाधीश उमेश कुमार की अदालत ने शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने तथा मुकदमे से बचने के लिए निकाह करने वाले युवक कोदस साल कैद की सजा सुनाई तीनों पर अदालत ने 65 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया

36
0

 न्यायाधीश उमेश कुमार की  अदालत  ने  शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने तथा मुकदमे से बचने के लिए निकाह करने वाले युवक कोदस साल कैद की सजा सुनाई तीनों पर अदालत ने 65 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया

अमरोहा: शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने तथा मुकदमे से बचने के लिए निकाह करने वाले युवक को अदालत ने दस साल कैद की सजा सुनाई है। दहेज उत्पीड़न के मामले में उसके दो परिजनों को भी तीन-तीन साल कैद की सजा सुनाई है। तीनों पर अदालत ने 65 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है।

यह मामला नौगावां सादात थाना क्षेत्र के एक गांव का है। यहां रहने वाले युवक रईस ने गांव की किशोरी को प्रेमजाल में फंसा लिया था। शादी का झांसा देकर उसके साथ दुष्कर्म किया। बाद में शादी करने से मुकर गया। गांव में पंचायत हुई तथा किशोरी ने मुकदमा दर्ज करने की धमकी दी तो रईस व उसके परिजनों ने वर्ष 2016 में दोनों का निकाह करा दिया। शादी के बाद से पीड़िता को ससुराल में दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाने लगा। पांच लाख रुपये व कार की मांग की जाने लगी। विरोध करने पर उसे घर से निकाल दिया गया। इस पर पीड़िता ने पति रईस व परिजनों के खिलाफ दुष्कर्म व दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज करा दिया था। पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बाद में वह जमानत पर छूट गए। यह मामला अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश उमेश कुमार द्वितीय की अदालत में चल रहा था। जिला शासकीय अधिवक्ता संजीव चौधरी ने अभियोजन पक्ष की तरफ से जोरदार पैरवी की। गुरुवार को अदालत ने इस मामले में अपना फैसला सुनाया। रईस को दुष्कर्म व दहेज उत्पीड़न का दोषी मानते हुए उसे दस साल कैद की सजा सुनाई है तथा 55 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। साथ ही परिवार के नन्हे व सायरून को दहेज उत्पीड़न का दोषी माना और उन्हें तीन-तीन साल कैद की सजा सुनाई है। साथ ही पांच-पांच हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here