Home राज्य हापुड़ न्यायालय में पेशी पर आए हत्यारोपी का हवालात में काटा गला

न्यायालय में पेशी पर आए हत्यारोपी का हवालात में काटा गला

33
0

संवाददाता, हापुड़:

 

जनपद संभल के चंदौसी में पेशी के दौरान हुई चूक से पुलिस ने कोई सबक नहीं लिया है। मंगलवार दोपहर कचहरी परिसर की हवालात में बंद हत्यारोपी फौजी का गला काट कर हत्या करने का प्रयास किया गया। पुलिस ने घायल को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया। घायल ने हवालात में बंद तीन बंदियों पर हमला करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने आरोपितों को हिरासत में लेकर जांच शुरू कर दी है। घायल को गंभीर देखते हुए चिकित्सकों ने उसे मेरठ के लिए रेफर कर दिया।

 

बाबूगढ़ थाना क्षेत्र के गांव कनिया कल्याणपुर में 22 मई 2018 को एक बीघा जमीन के विवाद को लेकर दो पक्षों के बीच खूनी संघर्ष हुआ था। इस दौरान एक पक्ष के सतीश त्यागी उर्फ पिटू की हत्या कर दी गई थी। इस मामले में मृतक के परिजन ने अपने गांव निवासी फौजी कुलदीप, आनंद, सुबीश, पंकज, सुरेंद्र, नितिन और प्रदीप के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। कुछ दिन बाद फौजी पक्ष के लोगों ने सतीश के पक्ष वालों पर जानलेवा हमला करने का आरोप लगाया था। इसके बाद सतीश पक्ष के सतेंद्र, ललित, सुशील, निशांत, नरेश, हरिओम, परम समेत नौ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था, जिन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। अब सतीश पक्ष से कुछ लोग जमानत होने पर जेल से बाहर आ चुके हैं।

 

मंगलवार को पुलिस बंदी वाहन में दोनों पक्षों के आरोपित को पेशी के लिए हापुड़ न्यायालय में लेकर आई थी। एक बंदी वाहन में फौजी समेत उसके पक्ष के धीरेंद्र, नितिन और प्रदीप को लाया गया था। दूसरे बंदी वाहन में सतीश पक्ष के सुनील त्यागी, निशांत और ललित को भी पेशी के लिए न्यायालय लाया गया। पुलिस ने दोनों पक्ष के आरोपितों को एक ही हवालात में बंद कर दिया। हवालात में बंद फौजी कुलदीप की कुछ लोगों ने गला रेत कर हत्या करने का प्रयास किया। गला रेतने के कारण वह गंभीर रूप से घायल हो गया। फौजी को लहूलुहान देखकर हवालात में बंद बंदियों ने शोर मचा दिया। इसके बाद हवालात पर तैनात पुलिसकर्मियों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पुलिस ने घायल फौजी को नगर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया।

 

पुलिस क्षेत्राधिकारी राजेश कुमार अस्पताल पहुंचे। वहां घायल फौजी ने उन्हें बताया कि हवालात में बंद सतीश पक्ष के तीनों आरोपित ने धारदार हथियार से गला रेत कर उसकी हत्या करने का प्रयास किया। पुलिस सतीश पक्ष के सुनील, निशांत और ललित को कोतवाली ले गई। उन्होंने पुलिस को बताया कि उन्हें उच्च न्यायालय से जमानत मिल चुकी है। तीनों की जमानत खारिज कराने के उद्देश्य से आरोपित ने खुद अपना गला रेत लिया और तीनों पर आरोप लगा दिया। पुलिस क्षेत्राधिकारी राजेश कुमार सिंह ने बताया कि हवालात से धारदार हथियार बरामद नहीं हुआ है। घटना संदिग्ध प्रतीत हो रही है। मामले की जांच की जा रही है। आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here