Home राज्य हापुड़ सादिकपुर दुर्घटना : एक साथ उठे 10 जनाजे, बिलख पड़े ग्रामवासी

सादिकपुर दुर्घटना : एक साथ उठे 10 जनाजे, बिलख पड़े ग्रामवासी

35
0

हापुड़:

 

गांव सालेपुर कोटला में उस समय चीख-पुकार और मातम छा गया, जब एक सड़क दुर्घटना में मारे गए 10 मासूमों के शव गांव में पहुंचे। मासूम बच्चों के शव पहुंचते ही गांव में हाहाकार मच गया। इसके बाद जैसे ही दस मासूमों के जनाजे एक साथ उठे तो लोगों की आंखें नम हो गईं। एक साथ उठे दस जनाजों को देखकर हर आंख में आंसू आ गए। गमगीन माहौल में शवों को कब्रिस्तान ले जाकर सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया।

 

गांव सादिकपुर के निकट सड़क दुर्घटना में दस बच्चों की मौत हो गई, जबकि 18 लोग घायल हुए। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा था। सोमवार दोपहर से पोस्टमार्टम होने के बाद शव गांव में पहुंचने लगे। एक के बाद एक सभी शव गांव में पहुंचे। शवों के पहुंचते ही परिजन समेत पूरे गांव में हाहाकार मच गया। परिजन जहां अपनों को खोकर छाती पीट रहे थे, वहीं उन्हें सांत्वना दे रहे ग्रामीणों की आंखों से एक पल के लिए भी आंसू नहीं रुके।

 

कभी किसी के घर तो कभी किसी के घर जाकर ग्रामीण मृतकों के परिजन को संभालने का प्रयास करते रहे, लेकिन हर कोई उस काली रात को कोस रहा था, जिस रात ने एक ही पल में दस मासूमों को निगल लिया। किसी मृतक की मां बिलख रही थी, तो किसी का पिता माथा पकड़कर खुद को कोस रहा था। कोई बहन अपने भाई की मौत पर तड़प रही थी, तो कोई भाई अपनी बहन के लिए आंसू बहा रहा था। गांव का माहौल देखकर ऐसा प्रतीत हो रहा था कि जैसे कोई भयंकर तूफान आ गया हो।

 

शाम के समय एक साथ दस बच्चों का जनाजा उठा तो सड़क पर ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। गमगीन माहौल में शवों को कब्रिस्तान ले जाया गया। इस दौरान गांव में भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा। परिजन और हजारों ग्रामीणों की मौजूदगी में शवों को सुपुर्द-ए-खाक किया गया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here