Home राज्य लखनऊ अमरोहा के ऐतिहासिक मातमी जुलूस का सिलसिला जारी

अमरोहा के ऐतिहासिक मातमी जुलूस का सिलसिला जारी

116
0

 ब्रेकिंग न्यूज़
———————–

– ब्रेकिंग न्यूज़
———————–अमरोहा के ऐतिहासिक मातमी जुलूस का सिलसिला जारी शामिल होने आए दूरदराज से लोग दो 
—————————अमरोहा : दुनियाभर में मशहूर अमरोहा के ऐतिहासिक मातमी जुलूस ओं का सिलसिला यहां जारी है पांचवें मोहर्रम का तीसरा मातमी जुलूस सकको के जाखाने से हुआ बरामद हुआ चौथे मोहर्रम का तीसरा मातमी जुलूस हुरमत शाह के आजा खाने मोहल्ला मछरेहटा से बरामद हुआ था कल छठे मोहर्रम का चौथा मातमी जुलूस नक्की नूरन के अजाखाने मोहल्ला छत्ता से बरामद होगा सातवें मोहर्रम का पांचवा मातमी जुलूस मोहल्ला कटरा के अजाखाने से बरामद होगा वही 8 मोहर्रम का छठा मातमी जुलूस चांद सूरत के अजाखाने काजी जादा से बरामद होगा मोहर्रम के मातमी जुलूस ओं का सिलसिला बड़ा दरबार से निकलने वाले जोड़ियों के जुलूस और 10 तारीख के ताजिए के जुलूस के साथी खत्म हो जाएगा
मोहर्रम के पहले जुलूस में शामिल हुए पूर्व चेयरमैन हाजी इकरार

अमरोहा के ऐतिहासिक मोहर्रम के जुलूसओं का सिलसिला शुरू हो चुका है तीसरे मोहर्रम का पहला मातमी जुलूस मोहल्ला पचरा के अजाखाने से बरामद हुआ यह जुलूस शहर में गश्त करता हुआ शाम को वापस इसी इमामबाड़े में समाप्त हो गया था जुलूस में सबसे आगे ऊंट जिस पर बच्चे काला अलम लिए हुए सवार थे जो हजरत इमाम हुसैन के काफिले की यादों को ताजा कर रहे थे वही उसके पीछे आराईस उसके पीछे अलम जिसमें तलवारे टंगी हुई थी उसके पीछे इमाम हुसैन का घोड़ा दुलदुल चल रहा था और उसके पीछे अजादार शहीदे कर्बला हुसैन हुसैन हुसैन हुसैन करते हुए और मरसिया पढ़ते हुए इमाम हुसैन की याद में मातम करते हुए चल रहे थे मातम के जुलूस में जहां तहफ्फुज ए अजादारी के पदाधिकारी जुलूस मैं सक्रिय थे । वहीअंजुमन रजाकराने हुसैनी के रज़ाकार जुलूस मे सहयोग करते देखे गए मोहर्रम के मातमी जुलूस में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे जुलूस के आगे पीछे बीच में भारी तादाद में पुलिस बल चल रहा था मासिक जुलूस में शामिल हुए डॉक्टर जमशेद कमाल अंजुमन रजा कराने हुसैनी के खुर्शीद हैदर जैदी लाडले रहबर चंदन नकवी इकबाल हैदर नकवी वर्ली हैदर नकवी एडवोकेट मुसन्निफ हुसैन एजाज जिया नकवी सहित शहर के समाजसेवी व राजनैतिक लोगों ने भारी संख्या में जुलूस में शिरकत की वहीं पूर्व पालिका चेयरमैन हाजी इकरार अंसारी अपने साथियों के साथ जुलूस मे देखे गए और ग़म ए हुसैन शरीक हुएli

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here