Home राज्य लखनऊ रिश्वतखोर सहायक जिला सूचना अधिकारी भूपेंद्र सिंह 18 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत...

रिश्वतखोर सहायक जिला सूचना अधिकारी भूपेंद्र सिंह 18 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में फिर भेजे गए जेल

47
0

रिश्वतखोर सहायक जिला सूचना अधिकारी भूपेंद्र सिंह 18 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में फिर भेजे गए जेल 

======================

बरेली एंटी करप्शन कोर्ट ने फिर भेजा जेल 

======================

घूसखोर सहायक सूचना अधिकारी को शासन ने किया था सस्पेंड 

======================

समाचार पत्रों को बदनाम कर पैसा वसूलने वाला सूचना अधिकारी रिश्वत लेते रंगे हाथ हुआ था गिरफ्तार 

======================

अमरोहा। रिश्वतखोर सहायक जिला सूचना अधिकारी भूपेंद्र सिंह को एंटी करप्शन कोर्ट ने 15 दिन की न्यायिक हिरासत में फिर से जेल भेज दिया है। 18 अक्टूबर तक उनको जेल भेजा गया है। इससे पहले 5 अक्टूबर तक के लिए वे जेल भेजे गए थे।

जेपीएन 7 से 5000 की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किए गए सहायक सूचना अधिकारी अमरोहा भूपेंद्र सिंह को शासन ने सस्पेंड कर दिया था और निलंबन के बाद मुरादाबाद कार्यालय से अटैच करने के आदेश सूचना निदेशक ने किये थे। मुरादाबाद के सहायक सूचना निदेशक जहांगीर अहमद की रिपोर्ट पर शासन ने कार्रवाई की थी। अमरोहा के सहायक जिला सूचना अधिकारी भूपेंद्र सिंह को एंटी करप्शन ने 25 सितंबर को दोपहर कलेक्ट्रेट से रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया था। जेपीएन 7 से की थी पाँच हजार रुपये रिश्वत की मांग, जेपीएन 7 ने करायी थी गिरफ्तारी। बता दें अभी बीते कुछ दिन पहले ही जनपद में आये नए नवेले अपर जिला सूचना अधिकारी ने गलत तरीके से कुछ सम्मानित समाचार पत्रों को बदनाम करके पैसे इक_ा करने की मंशा से फर्जी प्रेस नोट जारी किया था। जिसमें कई सम्मानित समाचार पत्र शामिल थे। उसी में से एक जेपीएन 7 समाचार पत्र से सौदेबाजी के चलते 25 सितंबर को रंगे हाथ 5000 रुपये लेते एंटी करप्शन टीम द्वारा गिरफ्तार किया गया था। जिसके गवाह कलेक्ट्रेट के दो एएसडीएम रहे। उन अपर उप जिलाधिकारियों की मौजूदगी में ही एंटी करप्शन टीम ने सारी कार्रवाई को अंजाम दिया था। गिरफ्तार किए गए अपर सूचना अधिकारी भूपेंद्र कुमार को थाना देहात पर ले जाया गया था। जहां पर वैधानिक कार्यवाही के बाद एंटी करप्शन कोर्ट बरेली में पेश किया गया था। बरेली एंटी करप्शन कोर्ट ने उनको 5 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया था। इस पूरे मामले की रिपोर्ट सहायक सूचना निदेशक मुरादाबाद जहांगीर अहमद ने शासन को भेजी थी। जिस पर कार्रवाई करते हुए शासन ने भूपेंद्र सिंह रिश्वतखोर सहायक सूचना अधिकारी को सस्पेंड कर दिया था और अमरोहा से हटाकर मुरादाबाद कार्यालय से अटैच करने के आदेश सूचना निदेशक ने किए थे। बरेली एंटी करप्शन कोर्ट ने उन्हें 5 अक्टूबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था आज उनको अदालत ने फिर 18 अक्टूबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है जिसकी मंडल भर में जोरदार चर्चा है।

JPN7NEWS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here