Home राज्य लखनऊ तो क्या प्रियंका गांधी की भी हुई थी जासूसी? कांग्रेस के आरोप...

तो क्या प्रियंका गांधी की भी हुई थी जासूसी? कांग्रेस के आरोप का बीजेपी ने दिया ये जवाब

10
0

कांग्रेस ने रविवार को दावा किया कि पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रियंका गांधी को व्हाट्सएप से एक संदेश मिला है जिसमें बताया गया है कि उनका फोन हैक होने का संदेह है। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि जब व्हाट्सएप से उन सभी लोगों को संदेश भेजे गए जिनके फोन हैक हुए थे, तो ऐसा ही एक संदेश प्रियंका गांधी वाड्रा को भी मिला था।सुरजेवाला ने सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि पेगासस स्पाइवेयर को केवल सरकार ही खरीद सकती है कोई और ये किसी को बेच ही नहीं सकता। उन्होंने कहा कि 2019 के संसदीय चुनाव के दौरान पेगासस स्पाइवेयर से नेताओं, पत्रकारों और ऐक्टिविस्टों के फोन को टेप किया गया और सरकार को इसकी जानकारी थी। कांग्रेस ने यह सवाल उठया कि क्या नरेंद्र मोदी सरकार ने 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले नागरिकों और राजनीतिक नेताओं पर जासूसी की थी। रणदीप सुरजेवाला ने पूछा कि क्या सत्ता के ईलाकों में बैठे लोग आपराधिक अपराधों के दोषी हैं और क्या सरकार को पता था कि अवैध स्पाइवेयर प्रमुख व्यक्तियों की जासूसी करने के लिए तैनात किए जा रहे हैं।

 आखिर कहां जाते हैं राहुल गांधी, विदेश दौरे पर कांग्रेस ने दिया ये जवाब

आपको बता दें कि काग्रेस कई दिनों से लगातार नकई भारतीय पत्रकारों और सामाजिक कार्यकर्ताओं की कथित जासूसी के मामले को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साध रही है और आरोप लगा रही है कि बेईमान सरकार ने इस मामले से जुड़े वाजिब सवालों के जवाब नहीं दिए। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा,  बेईमान भाजपा सरकार ने जासूसी मामले पर वाजिब सवालों के जवाब देने से इनकार किया। उन्होंने सवाल किया, भारत सरकार में किसने स्पाइवेयर की खरीदारी की? प्रधानमंत्री या राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार में से किसने इसकी खरीद की इजाजत दी? सुरजेवाला ने यह भी पूछा,  अगर फेसबुक ने मई, 2019 में सरकार को सूचित किया तो सरकार खामोश क्यों रही? जिम्मेदार लोगों के खिलाफ क्या कार्रवाई की गयी? गौरतलब है कि फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनी वॉट्सऐप ने कहा है कि इजराइल के स्पाईवेयर ‘पेगासस’ के जरिये कुछ अज्ञात इकाइयों की वैश्विक स्तर पर जासूसी की गई। भारतीय पत्रकार और मानवाधिकार कार्यकर्ता भी इस जासूसी का शिकार बने हैं। 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here