Home राज्य रामपुर चुनाव में हार के लिए कार्यकर्ता दोषी नहीं होता : नकवी

चुनाव में हार के लिए कार्यकर्ता दोषी नहीं होता : नकवी

31
0

रामपुर ;रामपुर में बोले नकवी चुनाव में हार जीत कोई मायने नहीं रखता है। इसमें कार्यकर्ताओं का कोई दोष नहीं होता है।

 । केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि चुनाव में हार-जीत होती रहती है। अपनी हार के लिए कभी कार्यकर्ताआें को दोष नहीं देना चाहिए। वह रामपुर से कई बार चुनाव लड़े और हारे भी, लेकिन कभी इसके लिए कार्यकर्ता को दोषी नहीं माना। नकवी रंगोली मंडप में भाजपा कार्यकर्ताओं के सम्मेलन में बोल रहे थे। वह मंत्री बनने के बाद पहली बार रामपुर आए थे, जिस पर कार्यकर्ताओं ने जोर-शोर से उनका स्वागत किया। जगह-जगह स्वागत द्वार बनाए। बाद में रंगोली मंडप में कार्यकर्ता सम्मेलन हुआ, जहां नकवी ने कार्यकर्ताओं की हौंसला बढ़ाया। सत्ता के नशे में चूर रहने वाले नेताओं को नसीहत देते हुए कहा कि सत्ता हमेशा नहीं रहती है, इसलिए सत्ता का घमंड नहीं करना चाहिए। व्यक्ति को शालीन रहना चाहिए। अहंकार और अकड़ किसी भी व्यक्ति के पतन का कारण बनती है। अराजकता, अहंकार और अकड़ से लोग सहम सकते हैं, लेकिन सम्मान नहीं कर सकते। अहंकार और प्रतिशोध एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। ये ऐसी आग हैं, जो इंसान और इंसानियत को जलाकर राख कर देते हैं। हमेशा जमीन पर चलने की आदत डालनी चाहिए। कार्यकर्ता हमारी पार्टी की ताकत हैं। अपनी हार के लिए उन्होंने कभी कार्यकर्ताओं को दोष नहीं दिया। कार्यकर्ता हमेशा पूरे मनोबल से चुनाव लड़ाता है। वर्तमान में भाजपा की केंद्र में सरकार है। इसके अलावा 16 राज्यों में सरकार है। भाजपा के 381 संसद सदस्य हैं। 1350 विधायक हैं। 11 करोड़ सदस्य हैं। यह हमारे लिए गर्व की बात है, गुरूर की नहीं। हमें इस ताकत को बढ़ाना है, लेकिन अपनी मेहनत और अपने विनम्र व्यवहार से। भाजपा कार्यकर्ता को जनता और सरकार के बीच पुल का काम करना चाहिए। इस मौके पर राज्यमंत्री बलदेव औलख, जिलाध्यक्ष मोहन लाल सैनी, पूर्व विधायक काशीराम दिवाकर, पूर्व विधायक ज्वालाप्रसाद गंगवार, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष ख्याली राम लोधी, पूर्व पालिकाध्यक्ष दीक्षा गंगवार, महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष नीलम गुप्ता, कपिल आर्य, जागेश्वर दयाल दीक्षित, हंसराज पप्पू, कुंवर नरेंद्र गंगवार, राजीव मांगलिक, भारत भूषण गुप्ता, मुन्नी देवी गंगवार आदि मौजूद रहे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here